केवल शिक्षा ही सफलता की कसौटी नहीं, इन 7 लोगों ने यह साबित कर दिखाया है

शिक्षा के महत्व को आज के समय में नकारा नहीं जा सकता लेकिन कभी जीवन की परिस्थितियां सफलता के मापदंडों के विपरीत जाकर विशेषत: शिक्षा से किनारा करने को मजबूर करें तो उस समय शिक्षा ही सफलता की कसौटी बन जाती है। ऐसे में मेहनत और लगन से जीवन की ऊंचाइयों को जो हासिल कर पाते हैं वह समाज और दुनिया के लिए मिसाल बन जाते हैं। ऐसे ही 7 लोगों के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जिन्होंने आधी-अधूरी शिक्षा के बावजूद सफलता के शिखर पर अपनी काबिलियत का परचम लहराया। 

1) मुकेश अंबानी : मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन प्रोग्राम की पढ़ाई बीच में छोड़कर रिलायंस इंडस्ट्रीज के मैनेजिंग डायरेक्टर बनने वाले मुकेश अंबानी को फोर्ब्‍स मैगेजीन में विश्व के अमीर उद्योगपतियों की सूची में नौवें स्थान पर जगह दी गई है। 

2) कपिल देव : भारत के मशहूर खिलाड़ी और देशवासियों के दिलों पर राज करने वाले कपिल देव ने क्रिकेट की बुलंदियों को छू कर अपने जीवन को आने वाली पीढ़ियों के लिए मिसाल के रूप में प्रस्तुत किया। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कपिल देव ने कॉलेज की पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी। हालांकि अपार सफलता मिलने के बाद भी कपिल को इस बात का हमेशा दुख रहता है। 

3) सचिन तेंदुलकर : क्रिकेट के मास्टर ब्लास्टर के नाम से पहचान बनाने वाले सचिन ने मात्र दसवीं कक्षा तक की पढ़ाई पूरी की है। हालांकि क्रिकेट में आगे बढ़ने के लक्षण उनमें बहुत पहले से मौजूद थे। सचिन का मानना है कि पढ़ाई के अलावा व्यक्ति को अपने शौक के प्रति गंभीरता से मेहनत करने की आजादी भी मिलनी चाहिए। जैसा कि सचिन ने अपने जीवन में क्रिकेट के क्षेत्र में कर दिखाया। 

4) अजीम प्रेमजी : 24 जुलाई 1945 को मुंबई में जन्मे अजीम हाशिम प्रेमजी भारतीय उद्योगपति, निवेशक, और भारतीय सॉफ्टवेयर कंपनी विप्रो के अध्यक्ष हैं। 1999 से लेकर 2005 तक भारत के सबसे धनी व्यक्तियों में उनकी गणना रही। अजीम प्रेमजी ने कॉलेज की पढ़ाई बीच में अधूरी छोड़कर 21 साल की उम्र में 11 अरब डॉलर की कंपनी को संभाला था। व्यापार के लिए शिक्षा को छोड़ना उनके लिए बुरा तो बिल्कुल भी नहीं रहा। 

5) मैरी कॉम : भारत की प्रतिभाशाली बॉक्सिंग चैंपियन मैरीकॉम ने स्कूल की पढ़ाई बीच में छोड़कर बॉक्सिंग में अपना कैरियर बनाया। रिंग में अपने आप को बेहतर साबित करने वाली मैरी कॉम ने दोबारा अपनी पढ़ाई पूरी करने का कदम उठा कर स्वयं को रिंग के बाहर भी बेहतर साबित करके दिखाया है। 

6) गौतम अडानी : अडानी ग्रुप के चेयरमैन और संस्थापक गौतम अडानी ने कॉलेज की पढ़ाई बीच में ही छोड़ कर हीरे के व्यापार क्षेत्र में कदम रखा था। आज वह एक सफल व्‍यापारी हैं। 

7) अक्षय कुमार : मार्शल आर्ट्स में ब्लैक बेल्ट के विजेता और अभिनय के सरताज अक्षय कुमार आज हर भारतीय के दिल पर राज करते हैं। इन्होंने मुंबई में स्नातक की पढ़ाई अधूरी छोड़ कर अपनी मेहनत और लगन से इस मुकाम तक पहुंचे। 

इन 7 लोगों का जीवन प्रमाणित करता है कि सपने देख कर उन्हें पूरा करने के लिए एकमात्र आपकी मेहनत लगन और जुनून ही काफी है।

Share This Article
444