महज 4 वर्ष में 7000 करोड़ का साम्राज्य स्थापित कर इस लड़की ने पेश की सफलता की अनूठी मिसाल

ऐसी दुनिया में जहां 10 में से नौ निवेश के फैसले पुरुषों के द्वारा या उनके नेतृत्व में किए जाते हैं, और महिलाओं द्वारा स्थापित की गई कंपनियां वैश्विक बाज़ारं के कुल निवेश का महज 2 फीसदी हिस्सा ही अपने नाम कर पाती हैं, यह सच है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं के लिए खुद का कारोबार शुरू करना ज्यादा चुनौतीपूर्ण है। और ऐसे पुरुष-प्रधान परिवेश में जब कोई महिला सफलता की कहानी लिखती हैं, तो वह उन तमाम महिलाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत बनती है जो अपना बॉस बनने की ख़्वाहिश रखती हैं।

कुछ साल पहले एक घर की पार्टी में दो पड़ोसियों के बीच एक आकस्मिक बातचीत के रूप में शुरू हुआ एक छोटा सा आइडिया अब वैश्विक स्तर पर एक नामचीन स्टार्टअप के रूप में जाना जा रहा है। अपने सपनों का पीछा करने की दृढ़ इच्छाशक्ति ने 27 साल की अंकिती बोस और 28 वर्ष के ध्रुव कपूर को महज चार साल के भीतर ही करीब एक अरब डॉलर (लगभग 7000 करोड़) के स्टार्टअप जिलिंगो का मालिक बना दिया।

fskrdxxfwxtqnqnfajbtj8qpmgvelkse.jpg

अंकिती सिकोया कैपिटल नामक एक इन्वेस्टमेंट फर्म में काम करती थी, तभी उनकी मुलाकात सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में काम करने वाले ध्रुव से हुई धीरे-धीरे दोनों की दोस्ती बढ़ी और उन्होंने ये महसूस किया कि वे दोनों अपने खुद के स्टार्ट-अप बनाने की महत्वाकांक्षा रखते हैं। उनकी क्षमताएं मिल कर कमाल कर सकती थीं। फिर क्या था, दोनों से कारोबारी आइडिया की तलाश करनी शुरू कर दी। इस दौरान अंकिती ने उन स्टार्टअप को बेहद करीब से अध्ययन किया जो वेंचर कॅपिटलिस्ट्स से निवेश उठाने में सफल रहे थेा उन्हें इसी का लाभ मिला, जब 12 फरवरी, 2019 को, ज़ीलिंगो ने $226 मिलियन की फंडिंग उठाई और उनकी वैल्यूएशन $1 बिलियन के करीब आंकी गयी।

"मैंने अपने भीतर सीखने की लालसा को कभी मरने नहीं दिया, दिन में 18-18 घंटे काम किया और यह बहुत मजेदार भी था।"

दिसंबर 2014 में, दोनों ने अपनी बचत में से $ 30,000 (21 लाख रुपये) के निवेश से अपने कंपनी की स्थापना की। सिंगापुर स्थित जिलिंगो एक फैशन और सौंदर्य आदि से जुड़ा एक ऑनलाइन बाज़ार है। यह दक्षिण पूर्व एशिया के छोटे व्यापारियों को उपभोक्ताओं को बिक्री के लिए अपनी वस्तुओं को सूचीबद्ध करने के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफार्म मुहैया कराता है।

अंकिती की प्रेरणा बैंकाक के लोकप्रिय चटुचक बाजार की यात्रा से हुई, जहाँ पूरे थाईलैंड से सामान बेचने वाले 15,000 से अधिक बूथ हैं। उसने महसूस किया कि इन विक्रेताओं के पास विस्तार करने के पर्याप्त अवसर नहीं हैं।

कंपनी ने छोटे व्यापारियों को उपभोक्ताओं तक अपने उत्पाद को पहुंचाने में मदद करके शुरुआत की, और तब से नए क्षेत्रों में विस्तार किया है। हजारों छोटे विक्रेताओं के साथ सौदा करने के दौरान उन्होंने महसूस किया कि कई में प्रौद्योगिकी, पूंजी और पैमाने की अर्थव्यवस्थाओं की पहुंच का अभाव है।

इसलिए उन्होंने विक्रेताओं को बांग्लादेश से वियतनाम तक फैक्ट्रियों तक पहुंचने और क्रॉस-बॉर्डर शिपिंग और इन्वेंट्री प्रबंधन में मदद करने के लिए सॉफ्टवेयर और प्रोद्योगिकी का इस्तेमाल किया। 2018 के बाद से, ज़ीलिंगो ने छोटे विक्रेताओं को कार्यशील पूंजी प्रदान करने के लिए वित्तीय प्रौद्योगिकी फर्मों के साथ भी काम किया है ताकि वे माल का उत्पादन करने के लिए कच्चे माल खरीद सकें।

इस वेबसाइट पर कोई भी विक्रेता मुफ्त में लिस्टिंग कर सकता है लेकिन उन्हें प्रत्येक ऑर्डर के साथ 10 प्रतिशत से 20 प्रतिशत के बीच कमीशन देना होता है।

edg3quhuf2wdvtgqjjd6jmk22ccerpsq.jpg

सिंगापुर के नियामकों के साथ कंपनी की सबसे हालिया फाइलिंग के अनुसार, जिलिंगो ने 31 मार्च, 2017 तक $ 1.3 मिलियन का राजस्व अर्जित किया, जो कि मार्च 2016 में स्थापना के बाद से लगभग $434,000 था। मार्च 2018 में समाप्त हुए वर्ष में राजस्व 12 गुना बढ़ गया और कंपनी के अनुसार अप्रैल से जनवरी की अवधि में चार गुना हो गया।

केवल एक सपने के साथ शुरू होने वाली कंपनी आज 400 कर्मचारियों के साथ आठ देशों तक फैल चुकी है। वर्तमान में यह इंडोनेशिया, थाईलैंड और फिलीपींस में फैशन ई-कॉमर्स साइटों को संचालित करता है और जल्द ही ऑस्ट्रेलिया में लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है।

यदि आप हार नहीं मानने के लिए तैयार हैं तो आपको कोई रोक नहीं सकता है। इसलिए ज्ञान और सही कौशल प्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित करें और फिर सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ सपनें की नीव रखें।

Share This Article
8740