शादियों में करोड़ों खर्च करने की प्रथाओं के बीच IAS ऑफिसर महज 18,000 खर्च करेंगे अपने बेटे की शादी पर

अब तक हमने कई सप्ताह तक चलने वाली शादियों की एक श्रृंखला देखी है, जहाँ सप्ताह भर तक चलने वाले स्वागत समारोह, स्थलों की सजावट और सुंदरता पर लाखों खर्च होने से लेकर हमारे सोशल मीडिया टाइमलाइन पर भी इन्हीं का बोलबाला रहा है। धन का ऐसा अशिष्ट प्रदर्शन हमारे जैसे समाज के लिए कभी एक उदाहरण नहीं हो सकता है।

विशाखापत्तनम के इस आईएएस अधिकारी का धन्यवाद, जो अपने बेटे की शादी के लिए केवल 36,000 रुपये खर्च करने का फैसला करके एक सुंदर मिसाल कायम कर रहे हैं, जो 10 फरवरी को होने वाली है। आर्थिक रूप से प्रबल होने के बावजूद, पटनाला बसंत कुमार जोकि विशाखापत्तनम मेट्रोपॉलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी के कमिश्नर हैं, ने भव्य शादियों की व्यर्थता को दूर करने का फैसला किया है।

xbnreke5g6msgmrxbgkitusyqwufplez.jpg

सांकेतिक तस्वीर

गौरतलब है कि यह राशि मेहमानों को खिलाने, सजावट, स्थल शुल्क आदि के खर्चों को कवर करेगी और इसे दुल्हन के परिवार के बीच विभाजित किया जाएगा, जिससे दोनों पक्षों को 18,000 रुपये खर्च करने होंगे। खबर है कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन शुक्रवार को समारोह में युगल को आशीर्वाद देंगे।

आपको बता दें कि बसंत ने 2017 में अपनी बेटी के लिए सिर्फ 16,100 रुपये खर्च करके शादी का आयोजन किया था।

Share This Article
466